होम / शायर : अज़ीज़ लखनवी

अज़ीज़ लखनवी की शायरी

तारीफ़ शायरी

उनको सोते हुए देखा...

उनको सोते हुए देखा था दमे-सुबह कभी,
क्या बताऊं जो इन आंखों ने शमां देखा था।

~ अज़ीज़ लखनवी
Admin द्वारा दिनाँक 22.09.15 को प्रस्तुत | कमेंट करें
पेज शेयर करें
   
© 2015-2018 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi