होम / शायर : फ़राज़ अहमद

Read Shayari in Hindi

आलम शौक़ का...


ये आलम शौक़ का देखा न जाये,
वो बुत है या ख़ुदा देखा न जाये,
ये किन नज़रों से तुम ने आज देखा,
कि तेरा देखना ​देखा ​ना जाये।

- फ़राज़ अहमद

आलम शौक़ का शायरी

एडमिन द्वारा दिनाँक 02.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Ads from AdNow
loading...