होम / लव शायरी / तेरी चाहत में अक्सर

तेरी चाहत में अक्सर

( अंकित तिवारी द्वारा दिनाँक 02-06-2016 को प्रस्तुत )
-Advertisement-

तुम्हे जो याद करता हुँ, मै दुनिया भूल जाता हूँ ।
तेरी चाहत में अक्सर, सभँलना भूल जाता हूँ ।।

तुम्ही से प्यार करता हूँ, तुम्ही पे जान देता हूँ ।
फिर भी न जाने क्युँ मैं, ये कहना भूल जाता हूँ ।।

तेरे स्पर्श से ही रिचाये अवतरित होती ।
परन्तु मैं उन्हे वेदो में, गढ़ना भूल जाता हूँ ।।

मुझे बस याद रहते हैं, तेरे वो प्रेम के चुम्बन ।
मगर मैं फिर उन्हे, होठो पे लाना भूल जाता हूँ ।।

याद हैं तेरा शहर, वो मदमस्त अल्लड़ चाल भी ।
न जाने क्यों तेरा, हंस कर पलटना भूल जाता हूँ ।।

मेरी स्मृति में छपी हो तुम, तरंगे वायु की बन के ।
तेरी मोहिनी पे मैं, तुझे भी भूल जाता हूँ ।।

~ अंकित तिवारी
-Advertisement-

आप इन्हें भी पसंद करेंगे

-Advertisement-
पेज शेयर करें
   
© 2015-2017 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi