होम / हिंदी उर्दू ग़ज़ल / हम तो हर बार मोहब्बत से

हम तो हर बार मोहब्बत से

( एडमिन द्वारा दिनाँक 13-05-2015 को प्रस्तुत )
-Advertisement-

हम तो हर बार मोहब्बत से सदा देते हैं,
आप सुनते हैं और सुनके भुला देते हैं,

ऐसे चुभते हैं तेरी याद के खंजर मुझको,
भूल जाऊं जो कभी याद दिला देते हैं,

ज़ख्म खाते हैं तेरी शोख निगाहों से बहुत,
खूबसूरत से कई ख्वाब सजा लेते हैं,

तोड़ देते हैं हर एक मोड़ पे दिल मेरा,
आप क्या खूब वफाओं का सिला देते हैं,

दोस्ती को कोई उन्वान तो देना होगा,
रंग कुछ इस पे मोहब्बत का चढा देते हैं,

तल्खी-ए-रंज-ए-मोहब्बत से परीशां होकर,
मेरे आंसू तुझे हंसने की दुआ देते हैं,

हाथ आता नही कुछ भी तो अंधेरों के सिवा,
क्यूँ सरे शाम यूँ ही दिल को जला लेते हैं,

हम तो हर बार मोहब्बत का गुमा करते हैं,
वो हर एक बार मोहब्बत से दगा देते हैं,

दम भर को ठहरना मेरी फितरत न समझना,
हम जो चलते हैं तो तूफ़ान उठा देते हैं,

आपको अपनी मोहब्बत भी नही रास आती,
हम तो नफरत को भी आंखों से लगा लेते हैं ।

-Advertisement-

आप इन्हें भी पसंद करेंगे

-Advertisement-
पेज शेयर करें
   
© 2015-2017 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi