होम / लव शायरी / तेरी आवाज़ जो कल सुनी

तेरी आवाज़ जो कल सुनी

( नीलम 'दीप' द्वारा दिनाँक 12-06-2017 को प्रस्तुत )
-Advertisement-

तपती दोपहरी, गरम रेत पर...
ठंडे पानी की बूँदों जैसा काम कर गई...
तेरी आवाज़ जो कल सुनी मैंने...।

नीलम 'दीप'

तेरी आवाज़ जो कल सुनी शायरी
-Advertisement-

आप इन्हें भी पसंद करेंगे

-Advertisement-
पेज शेयर करें
   
© 2015-2017 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi