होम / फनी शायरी / गम ए उल्फत मे जो

गम ए उल्फत मे जो

( कपिल शर्मा द्वारा दिनाँक 08-02-2015 को प्रस्तुत )
-Advertisement-

जेलर- सुना है की तुम शायर हो कुछ सुनाओ यार...

कैदी-
गम ए उल्फत मे जो जिन्दगी कटी हमारी,
जिस दिन जमानत हुई जिन्दगी खतम तुम्हारी ।

-Advertisement-

आप इन्हें भी पसंद करेंगे

-Advertisement-
पेज शेयर करें
   
© 2015-2017 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi