होम / व्हाट्स एप स्टेटस / बहुत ही सुंदर पंक्तियां

बहुत ही सुंदर पंक्तियां...


( एडमिन द्वारा दिनाँक 26.12.15 को प्रस्तुत )
Advertisement

बहुत ही सुंदर पंक्तियां भेजी है,
फारवर्ड करने से खुद को रोक नहीं पाया ....
जब भी अपनी शख्शियत पर अहंकार हो,
एक फेरा शमशान का जरुर लगा लेना।
और....
जब भी अपने परमात्मा से प्यार हो,
किसी भूखे को अपने हाथों से खिला देना।
जब भी अपनी ताक़त पर गुरुर हो,
एक फेरा वृद्धा आश्रम का लगा लेना।
और….
जब भी आपका सिर श्रद्धा से झुका हो,
अपने माँ बाप के पैर जरूर दबा देना।
जीभ जन्म से होती है और मृत्यु तक रहती है
क्योकि वो कोमल होती है.
दाँत जन्म के बाद में आते है और मृत्यु से पहले चले जाते हैं...
क्योकि वो कठोर होते है।
छोटा बनके रहोगे तो मिलेगी हर बड़ी रहमत...
बड़ा होने पर तो माँ भी गोद से उतार देती है..
किस्मत और पत्नी भले ही परेशान करती है लेकिन
जब साथ देती हैं तो ज़िन्दगी बदल देती हैं।
प्रेम चाहिये तो समर्पण खर्च करना होगा।
विश्वास चाहिये तो निष्ठा खर्च करनी होगी।
साथ चाहिये तो समय खर्च करना होगा।
किसने कहा रिश्ते मुफ्त मिलते हैं ।
मुफ्त तो हवा भी नहीं मिलती ।
एक साँस भी तब आती है,
जब एक साँस छोड़ी जाती है।।




Advertisement

आप इन्हें भी पसंद करेंगे

Advertisement
Ads from AdNow
loading...

« पिछला पोस्ट अगला पोस्ट »