होम / कैटेगरी : अश्क़ शायरी

Ashq Shayari in Hindi

हमारे आंसू पोंछ कर...


हमारे आंसू पोंछ कर वो मुस्कुराते हैं,
इसी अदा से वो दिल को चुराते हैं,
हाथ उनका छू जाये हमारे चेहरे को,
इसी उम्मीद में हम खुद को रुलाते हैं।



एडमिन द्वारा दिनाँक 05.06.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

नदियाँ नहीं आंसू थे...


वो नदियाँ नहीं आंसू थे मेरे,
जिस पर वो कश्ती चलाते रहे,
मंजिल मिले उन्हें यह चाहत थी मेरी,
इसलिए हम आंसू बहाते रहे।



एडमिन द्वारा दिनाँक 03.06.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

अक्स दिल में...


उसका अक्स दिल में इस कदर बसा है,
बरसों आँसू बहे मगर तसवीर न धुली।



एडमिन द्वारा दिनाँक 12.04.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें

बेरंग आँसू पर शायरी...


ये तो अच्छा है कि आँसू बे रंग हुआ करते है,
वरना रातों को भीगे तकिये सारे राज़ खोल देते।



एडमिन द्वारा दिनाँक 26.12.15 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

आंसू मेरे देखकर तू...


आंसू मेरे देखकर तू परेशान क्यों है ऐ दोस्त,
ये वो अल्फाज हैं जो जुबान तक आ न सके ।



एडमिन द्वारा दिनाँक 23.09.15 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Ads from AdNow
loading...