होम / कैटेगरी : दर्द शायरी

Dard Shayari in Hindi

रात गुज़ारी तड़प कर...


कहीं किसी रोज़ यूँ भी होता,
हमारी हालत तुम्हारी होती,
जो रात हमने गुज़ारी तड़प कर,
वो रात तुमने गुज़ारी होती।


रात गुज़ारी तड़प कर शायरी

एडमिन द्वारा दिनाँक 29.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

कहूँ कैसे कि...


बिखरे अरमान, भीगी पलकें और ये तन्हाई,
कहूँ कैसे कि मिला मोहब्बत में कुछ भी नहीं।


कहूँ कैसे कि शायरी

एडमिन द्वारा दिनाँक 28.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

दर्द की दौलत...


खुद को औरों की तवज्जो का तमाशा न करो,
आइना देख लो अहबाब से पूछा न करो,
शेर अच्छे भी कहो, सच भी कहो, कम भी कहो,
दर्द की दौलत-ए-नायाब को रुसवा न करो।


दर्द की दौलत शायरी

एडमिन द्वारा दिनाँक 26.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें

दिल की चुभन...


बदले तो नहीं हैं वो... दिल-ओ-जान के करीने,
आँखों की जलन, दिल की चुभन अब भी वही है।

- अदा जाफरी


एडमिन द्वारा दिनाँक 26.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

रास्ते वही होंगे...


रास्ते वही होंगे और नज़ारे वही होंगे,
पर हमसफ़र अब हम तुम्हारे नहीं होंगे।


रास्ते वही होंगे शायरी

नंदिनी नारायण द्वारा दिनाँक 25.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Ads from AdNow
loading...