होम / कैटेगरी : ग़म शायरी

हिंदी में ग़म शायरी

किसीको खोने का ग़म...

हमसे पूछो किसीको खोने का ग़म क्या होता है,
हँसते हँसते रोने का दर्द क्या होता है,
खुदा उसी से क्यों मिला देता है हमें,
जिसका साथ किस्मत में नहीं होता है।

सत्येंद्र प्रजापति द्वारा दिनाँक 09-08-2017 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-

तो रो दिए...

उड़ता हुआ गुबार सर-ए-राह देख कर,
अंजाम हमने इश्क़ का सोचा तो रो दिए,
बादल फिजा में आप की तस्वीर बन गए,
साया कोई ख्याल से गुजरा तो रो दिए।

तो रो दिए शायरी
एडमिन द्वारा दिनाँक 13-07-2017 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-

ग़म कोई समझ न पाया...

एक हसरत थी सच्चा प्यार पाने की,
मगर चल पड़ी आँधियां जमाने की,
मेरा ग़म तो कोई ना समझ पाया,
क्यूंकि मेरी आदत थी सबको हँसाने की।

दीपक सोनी गोहपारू द्वारा दिनाँक 24-05-2017 को प्रस्तुत | कमेंट करें

तेरे इश्क़ का ग़म...

तुझको पा कर भी न कम हो सकी मेरी बेताबी,
इतना आसान तेरे इश्क़ का ग़म था ही नहीं।

एडमिन द्वारा दिनाँक 08-05-2017 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-

ग़म छुपाकर हँसने वाले...

आँसुओं से जिनकी आँखें नम नहीं,
क्या समझते हो कि उन्हें कोई गम नहीं?
तड़प कर रो दिए गर तुम तो क्या हुआ,
गम छुपा कर हँसने वाले भी कम नहीं।

एडमिन द्वारा दिनाँक 07-05-2017 को प्रस्तुत | कमेंट करें

पेज शेयर करें
   
© 2015-2018 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi