Read Shayari in Hindi

प्यार में खो जायें...


जो तेरे गुलाबी लब मेरे लबों को छू जायें,
मेरी रूह का मिलन तेरी रूह से हो जाये,
ज़माने की साज़िशों से बेपरवाह हो जायें,
मेरे ख्वाब कुछ देर तेरी बाहों में सो जायें,
मिटा कर फ़ासले हम प्यार में खो जायें,
आ कुछ पल के लिये एक-दूजे के हो जायें।


प्यार में खो जायें शायरी

एडमिन द्वारा दिनाँक 29.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

दिल सफर में है...


तमाम लोगों को अपनी अपनी मंजिल मिल चुकी,
कमबख्त हमारा दिल है, कि अब भी सफर में है।



गणपत खिची द्वारा दिनाँक 29.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

रात गुज़ारी तड़प कर...


कहीं किसी रोज़ यूँ भी होता,
हमारी हालत तुम्हारी होती,
जो रात हमने गुज़ारी तड़प कर,
वो रात तुमने गुज़ारी होती।


रात गुज़ारी तड़प कर शायरी

एडमिन द्वारा दिनाँक 29.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें

कहीं ऐसा न हो जाये...


इरादे बाँधता हूँ, सोचता हूँ, तोड़ देता हूँ,
कहीं ऐसा न हो जाये, कहीं वैसा न हो जाये।



एडमिन द्वारा दिनाँक 29.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

हिज्र के सहारे...


मेरी ज़िंदगी तो गुजरी तेरे हिज्र के सहारे,
मेरी मौत को भी कोई बहाना चाहिए।


हिज्र के सहारे शायरी

एडमिन द्वारा दिनाँक 29.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Ads from AdNow
loading...