हिंदी शायरी

हिंदी उर्दू ग़ज़ल

मेरी ये जिद नहीं...

मेरी ये जिद नहीं मेरे गले का हार हो जाओ,
अकेला छोड़ देना तुम जहाँ बेज़ार हो जाओ।

बहुत जल्दी समझ में आने लगते हो ज़माने को,
बहुत आसान हो थोड़े बहुत दुश्वार हो जाओ।

मुलाकातों के वफ़ा होना इस लिए जरूरी है,
कि तुम एक दिन जुदाई के लिए तैयार हो जाओ।

मैं चिलचिलाती धूप के सहरा से आया हूँ,
तुम बस ऐसा करो साया-ए-दीवार हो जाओ।

तुम्हारे पास देने के लिए झूठी तसल्ली हो,
न आये ऐसा दिन तुम इस कदर नादार हो जाओ।

तुम्हें मालूम हो जायेगा कि कैसे रंज सहते हैं,
मेरी इतनी दुआ है कि तुम फनकार हो जाओ।

मेरी ये जिद नहीं शायरी
एडमिन द्वारा दिनाँक 21-09-2018 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-
ग़म शायरी

ग़म भी उनका अज़ीज...

मुझे ग़म भी उनका अज़ीज है
कि उन्हीं की दी हुई चीज़ है,
यही ग़म है अब मेरी जिंदगी
इसे कैसे दिल से जुदा करूँ।

एडमिन द्वारा दिनाँक 21-09-2018 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-
दो लाइन शायरी

कुछ ऐसे भी...

रात में हैवान दिन में इंसान बने बैठे हैं,
कुछ ऐसे भी भगवान बने बैठे हैं।

प्रिंस यशवंत द्वारा दिनाँक 21-09-2018 को प्रस्तुत | कमेंट करें
दर्द शायरी

दर्द इतना दिया...

उसने दर्द इतना दिया कि सहा न गया,
उसकी आदत सी थी इसलिए रहा न गया,
आज भी रोती हूँ उसे दूर देख के,
लेकिन दर्द देने वाले से ये कहा न गया।
~ आराधना मिश्रा

दर्द इतना दिया शायरी
आराधना मिश्रा द्वारा दिनाँक 18-09-2018 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-
हिंदी उर्दू ग़ज़ल

उदासी का ये पत्थर...

उदासी का ये पत्थर आँसुओं से नम नहीं होता,
हजारों जुगनुओं से भी अँधेरा कम नहीं होता।

बिछड़ते वक़्त कोई बदगुमानी दिल में आ जाती,
उसे भी ग़म नहीं होता मुझे भी ग़म नहीं होता।

ये आँसू हैं इन्हें फूलों में शबनम की तरह रखना,
ग़ज़ल एहसास है एहसास का मातम नहीं होता।

बहुत से लोग दिल को इस तरह महफूज़ रखते हैं,
कोई बारिश हो ये कागज़ जरा भी नम नहीं होता।

कभी बरसात में शादाब बेलें सूख जाती है,
हरे पेड़ों के गिरने का कोई मौसम नहीं होता।

एडमिन द्वारा दिनाँक 13-09-2018 को प्रस्तुत | कमेंट करें

पेज शेयर करें
   
© 2015-2018 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi