Search Results for - आकाश घराना

याद शायरी

चाँद रोया याद में...

आज भीगी है पलकें किसी की याद में,
आकाश भी सिमट गया है अपने आप में,
ओस कि बूदें ऐसी गिरी है जमीन पर,
मानो चाँद भी रोया हो उसकी याद में।

Kisi Ki Yaad Mein...

Aaj Bheegi Hain Palkein Kisi Ki Yaad Mein,
Aakash Bhi Simat Gaya Hai Apne Aap Mein,
Os Ki Boondein Aisi Giri Hain Zamin Par,
Maano Chaand Bhi Roya Hai Uski Yaad Mein.

आकाश घराना द्वारा दिनाँक 20-05-2017 को प्रस्तुत
पेज शेयर करें
   
© 2015-2018 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi