Search Results for - एडमिन

दो लाइन शायरी

अब तो मेरी आँख...

अब तो मेरी आँख में एक अश्क भी नहीं ।
पहले की बात और थी गम था नया नया ।।

Ab To Meri Aankh Me...

Ab To Meri Aankh Me Ek Ashq Bhi Nahi!
Pahle Ki Baat Aur Thi Gham Tha Naya Naya!!

एडमिन द्वारा दिनाँक 04.02.15 को प्रस्तुत
दो लाइन शायरी

मोहब्बत नापने का कोई...

मोहब्बत नापने का कोई पैमाना नहीं होता,
कहीं तू बढ़ भी सकता है, कहीं तू मुझ से कम होगा ।

Mohabbat Naapne Ka Koyi Paimana...

Mohabbat Naapne Ka Koyi Paimana Nahi Hota,
Kahin Tu Bad Bhi Sakta Hai, Kanhi Tu Mujhse Kam Hoga !!

एडमिन द्वारा दिनाँक 04.02.15 को प्रस्तुत
दो लाइन शायरी

कितने परवाने जले...

कितने परवाने जले राज़ ये पाने के लिए ।
शमां जलने के लिए हैं या जलाने के लिए ।।

Kitne Parwaane Jale...

Kitne Parwaane Jale Raaz Ye Paane Ke Liye,
Shama Jalne Ke Liye Hai Ya Jalaane Ke Liye!

एडमिन द्वारा दिनाँक 04.02.15 को प्रस्तुत
दो लाइन शायरी

फ़िक्र ये थी कि शब ए हिज्र...

फ़िक्र ये थी कि शब-ए-हिज्र कटेगी कैसे,
लुत्फ़ ये है कि हमें याद न आया कोई।

Fikr Ye Thi Ke...

Fikr Ye Thi Ke Shab-E-Hizr Kategi Kaise,
Lutf Ye Hai Ke Humen Yaad Na Aaya Koyi.

एडमिन द्वारा दिनाँक 04.02.15 को प्रस्तुत
दो लाइन शायरी

बिछड़ा इस कदर से...

बिछड़ा इस कदर से के रुत ही बदल गयी...।
एक शख्स सारे शहर को वीरान कर कर गया ।।

Bichhada Is Kadar Ki...

Bichhada Is Kadar Ki Rut Hi Badal Gayi !
Ek Shakhs Sare Shahar Ko Veeran Kar Gaya!!

एडमिन द्वारा दिनाँक 04.02.15 को प्रस्तुत

पेज शेयर करें
   
© 2015-2017 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi