Search Results for - प्रिया

याद शायरी

याद उस लम्हे की...

याद उस लम्हे की जब भी जेहन में आती है,
मोहब्बत कसक बनके उभर आती है।

Yaad Uss Lamhe Ki...

Yaad Uss Lamhe Ki Jab Bhi Jehan Mein Aati Hai,
Mohabbat Kasak Ban Ke Ubhar Aati Hai.

प्रियादीप द्वारा दिनाँक 03-11-2016 को प्रस्तुत
इश्क़ शायरी

गर हो जाए इश्क...

गर हो जाए इश्क...
तो हमसे साझा कर लेना।
कुछ हम रख लेंगे
कुछ तुम रख लेना।

प्रियादीप द्वारा दिनाँक 03-11-2016 को प्रस्तुत
दर्द शायरी

रिहाई दे दो हमें...

रिहाई दे दो हमें अपनी मोहब्बत की कफस से,
कि अब ये दर्द हमसे और सहा नहीं जाता।
(कफस - पिंजड़ा)

प्रियादीप द्वारा दिनाँक 03-11-2016 को प्रस्तुत
शिक़वा शायरी

कसूर किसका था...

दिमाग पर जोर डालकर गिनते हो
गलतियाँ मेरी,
कभी दिल पर हाथ रख कर पूछना
कि कसूर किसका था।

प्रियादीप द्वारा दिनाँक 03-11-2016 को प्रस्तुत
दर्द शायरी

आइना भी रूठा...

वो जो तुमसे रुबरु करवाता है,
आजकल वो आइना भी हमसे रूठा है।

प्रियादीप द्वारा दिनाँक 07-11-2016 को प्रस्तुत
पेज शेयर करें
   
© 2015-2018 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi