Search Results for - रवि राज मीणा

फनी शायरी

मोहब्बत के खर्चे...

मोहब्बत के खर्चों की बड़ी लंबी कहानी है,
कभी फिल्म दिखानी है तो कभी शॉपिंग करानी है,
मास्टर रोज कहता है कहाँ हैं फीस के पैसे?
उसे कैसे समझाऊँ कि मुझे छोरी पटानी है!

Chhori Pataani Hai...

Mohabbat Ke Kharchon Ki Badi Lambi Kahani Hai,
Kabhi Film Dikhani Hai Kabhi Shopping Karani Hai,
Master Roj Kahta Hai Kahan Hain Fees Ke Paise,
Use Kaise Main Samjhaaun Mujhe Chhori Pataani Hai

रवि राज मीणा द्वारा दिनाँक 30.07.17 को प्रस्तुत
पेज शेयर करें
   
© 2015-2018 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi