Search Results for - राजेश नाईक

जिंदगी शायरी

तेरे साथ जिंदगी...

कभी बनती थी तो
कभी बिगड़ कर बैठ जाती थी,
तेरे साथ जैसी भी थी जिंदगी
जिंदगी जैसी तो थी।

Tere Saath Zindagi...

Kabhi Banti Thi Toh
Kabhi Bigad Kar Baithh Jati Thi,
Tere Saath Zindagi Jaisi Bhi Thi,
Zindagi Jaisi Toh Thi.

राजेश नाईक द्वारा दिनाँक 12.11.17 को प्रस्तुत
पेज शेयर करें
   
© 2015-2018 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi