Search Results for - विकास

गुणता नियंत्रण नारा

गुणता चक्र अपनाएँ...

संस्थान की हो उन्नति और कोई समस्या न हो पास ।
‘गुणता चक्र’ अपना कर करें व्यक्तितत्व विकास ।।

एडमिन द्वारा दिनाँक 03.11.15 को प्रस्तुत
लव शायरी

मुझे मिले क्यों नहीं...

अगर आप अजनबी थे तो लगे क्यों नहीं,
और अगर मेरे थे तो मुझे मिले क्यों नहीं।

विकास सिंह जादों द्वारा दिनाँक 15.06.17 को प्रस्तुत
सैड शायरी

वो छोड़ने वाला है...

गजब का प्यार था... उसकी उदास आँखो में,
महसूस तक ना होने दिया कि वो छोड़ने वाला है।

Ghajab Ka Pyar Tha...

Ghajab Ka Pyar Tha Uski Udaas Aankhon Mein,
Mahsoos Tak Na Hone Diya Ke Woh Chhodne Wala Hai.

विकास सिंह जादों द्वारा दिनाँक 15.06.17 को प्रस्तुत
जुदाई शायरी

जब कोई जुदा होता है...

मजबूरी में जब कोई किसी से जुदा होता है,
ये तो ज़रूरी नहीं कि वो बेवफ़ा होता है,
देकर वो आपकी आँखों में जुदाई के आँसू,
तन्हाई में वो आपसे भी ज्यादा रोता है।

विकास द्वारा दिनाँक 17.10.17 को प्रस्तुत
पेज शेयर करें
   
© 2015-2018 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi