Search Results for - संदीप कश्यप

बेवफा शायरी

बदनामियों का डर...

गर हमें तेरी बदनामियों का डर न होता,
न तू वेवफा कहती... न मैं वेवफा होता।

Na Tu Bewafa Kehti...

Gar Humein Teri BadNaamiyon Ka Darr Na Hota,
Na Tu Bewafa Kehti Aur Na Main Bewafa Hota.

संदीप कश्यप द्वारा दिनाँक 19.03.17 को प्रस्तुत
पेज शेयर करें
   
© 2015-2018 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi