Search Results for - Rajendra Sonwani

दर्द शायरी

पड़ी जरुरत हमसफ़र की...

ज़िन्दगी देने वाले यूँ मरता छोड़ गए,
अपनापन जताने वाले यूँ तनहा छोड़ गए,
जब पड़ी जरुरत हमें अपने हमसफ़र की,
तो साथ चलने वाले अपना रास्ता मोड़ गए.

Padi Jarurat Humsafar Ki...

Zindagi Dene Wale Yun Marta Chhod Gaye,
ApanaPan Jatane Wale You Tanha Chhod Gaye,
Jab Padi Jarurat Humein Apne Humsafar Ki,
To Sath Chalne Wale Apna Rasta Mod Gaye.

राजेन्द्र सोनवानी द्वारा दिनाँक 02.06.16 को प्रस्तुत
पेज शेयर करें
   
© 2015-2017 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi