Search Results for - Sonu Sahgam

ग़म शायरी

राहत मिली ना दिल को...

राहत मिली ना दिल को,
ना चैन-ओ-सकून मिला,
बारिस भी होती रही रातभर,
और कमबख्त दिल भी जलता रहा।

~ सोनू सहगम

Rahat Na Mili...

Rahat Mili Na Dil Ko,
Na Chain-o-Sukoon Mila,
Barish Bhi Hoti Rahi Raat Bhar,
Aur Kambakht Dil Bhi Jalta Raha.

सोनू सहगम द्वारा दिनाँक 12.03.16 को प्रस्तुत
पेज शेयर करें
   
© 2015-2017 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi