होम / कैटेगरी : शराब शायरी

Sharaab Shayari in Hindi

होशो हवास में बहको...


होशो हवास में बहको तो कोई बात बने,
युं नशे में लुढ़कना तो यार पुराना हुआ ।



Admin द्वारा दिनाँक 23.09.15 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

पीने से कर चुका...


पीने से कर चुका था मैं तौबा दोस्तों,
बादलो का रंग देख नीयत बदल गई।।

- जलील मानिकपुरी

पीने से कर चुका शायरी

एडमिन द्वारा दिनाँक 08.07.15 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

छीनकर हाथों से जाम...


छीनकर हाथों से जाम
वो इस अंदाज़ से बोली,

कमी क्या है इन होठों में
जो तुम शराब पीते हो ।



एडमिन द्वारा दिनाँक 04.07.15 को प्रस्तुत | कमेंट करें

नशा पिला के गिराना तो सब...


नशा पिला के गिराना तो
सब को आता है,
मज़ा तो तब है कि
गिरतों को थाम ले साक़ी ।


नशा पिला के गिराना तो सब शायरी

एडमिन द्वारा दिनाँक 27.06.15 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

थोड़ा गम मिला तो...


थोड़ा गम मिला तो घबरा के पी गए,
थोड़ी ख़ुशी मिली तो मिला के पी गए,
यूँ तो हमें न थी ये पीने की आदत...
शराब को तनहा देखा तो तरस खा के पी गए।



एडमिन द्वारा दिनाँक 04.02.15 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Ads from AdNow
loading...