होम / कैटेगरी : शिक़वा शायरी

हिंदी में शिक़वा शायरी

दुनिया में ऐसा क्यों...

जाने दुनिया में ऐसा क्यों होता है,
जो सबको खुशी दे वही क्यों रोता है,
उम्र भर जो साथ न दे सके,
वही ज़िन्दगी का पहला प्यार क्यों होता है?

गोपाल कुमार द्वारा दिनाँक 07.08.17 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-

हद से गुजर गए...

तुम बस उलझे रह गए हमें आजमाने में,
और हम हद से गुजर गए तुम्हें चाहने में।

एडमिन द्वारा दिनाँक 13.07.17 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-

गर जिंदगी में मिल गए...

गर जिंदगी में मिल गए फिर इत्तेफाक से,
पूछेंगे अपना हाल तेरी बेबसी से हम।

~ साहिर लुधियानवी
गर जिंदगी में मिल गए शायरी
एडमिन द्वारा दिनाँक 11.07.17 को प्रस्तुत | कमेंट करें

लब पे आएगी बात...

उनसे कह दो मुझे खमोश ही रहने दें 'वसीम',
लब पे आएगी तो हर बात गिराँ गुज़रेगी।

~ वसीम बरेलवी
एडमिन द्वारा दिनाँक 11.07.17 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-

खुशबू मोहब्बत की...

राख से भी आएगी खुशबू मोहब्बत की,
मेरे खत तुम सरेआम जलाया ना करो।

खुशबू मोहब्बत की शायरी
एडमिन द्वारा दिनाँक 28.06.17 को प्रस्तुत | कमेंट करें

पेज शेयर करें
   
© 2015-2017 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi