होम / कैटेगरी : तारीफ़ शायरी

हिंदी में तारीफ़ शायरी

मत कर इतना गुरुर...

ऐ चाँद मत कर इतना गुरुर... तुझमें तो दाग है,
पर मेरे वजूद में जो चाँद सिमटा है वो बेदाग है।

सोनू खडेर द्वारा दिनाँक 29.11.17 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-

मुस्कुरा भर दो...

निगाह उठे तो सुबह हो... झुके तो शाम हो जाये,
एक बार मुस्कुरा भर दो तो कत्ले-आम हो जाये।

मुस्कुरा भर दो शायरी
रविराज द्वारा दिनाँक 06.08.17 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-

चाँद कहता रहा...

तुझको देखा तो फिर किसी को नहीं देखा,
चाँद कहता रहा मैं चाँद हूँ... मैं चाँद हूँ...।

एडमिन द्वारा दिनाँक 12.07.17 को प्रस्तुत | कमेंट करें

तेरी ज़ुल्फ़ों की घटा...

तेरी ज़ुल्फ़ों की घटाओं का मुंतज़िर हुआ जाता हूँ,
अब ये आलम है कि बारिश भी सूखी सी लगती है।

तेरी ज़ुल्फ़ों की घटा शायरी
इमरान मलिक द्वारा दिनाँक 12.06.17 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-

तू उर्दू का हसीन लफ्ज़...

उफ्फ ये नज़ाकत ये शोखियाँ ये तकल्लुफ़,
कहीं तू उर्दू का कोई हसीन लफ्ज़ तो नहीं।

एडमिन द्वारा दिनाँक 18.05.17 को प्रस्तुत | कमेंट करें

पेज शेयर करें
   
© 2015-2018 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi