होम / लव शायरी / होने लगीं दुआएं मुकम्मल

होने लगीं दुआएं मुकम्मल

( अमिताभ रंजन द्वारा दिनाँक 22-01-2019 को प्रस्तुत )
-Advertisement-

होने लगीं दुआएं मुकम्मल मेरी,
आदत हुईं हैं मेरी अदाएं तेरी,
आँखों ही आँखों से वो दिल के पास होने लगे,
जो थे कल तक अनजाने अब ख़ास होने लगे।
-अमिताभ रंजन

-Advertisement-

आप इन्हें भी पसंद करेंगे

-Advertisement-
हमसे जुड़ें
फेसबुक पेज
पेज शेयर करें
 
© 2015-2019 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi