हिंदी शायरी

रूबरू करके कभी...

कब वो ज़ाहिर होगा और हैरान कर देगा मुझे,
जितनी भी मुश्किल में हूँ आसान कर देगा मुझे,
रूबरू करके कभी अपने महकते सुर्ख होंठ,
एक दो पल के लिए गुलदान कर देगा मुझे।

-Advertisement-

हमारा दर्द से रिश्ता...

वफ़ा का रंग जो गहरा दिखाई देता है,
लहू उसमे कुछ हमारा दिखाई देता है,
हमारा ग़म से ताल्लुक बहुत पुराना है,
हमारा दर्द से रिश्ता दिखाई देता है।

हमारा दर्द से रिश्ता शायरी

-Advertisement-

उतना ही याद आयें हम...

ये आरज़ू नहीं किसी को भुलाएं हम,
न तमन्ना है कि किसी को रुलाएं हम,
जिस-जिस को जितना याद करते हैं,
उसे भी उतना ही याद आयें हम।

तन्हाई का एहसास है...

कुछ ये शाम उदास है कुछ मेरा दिल उदास है,
ये शहर तो रोशन है महफ़िलों की रौशनी में,
फिर क्यूँ मुझे तन्हाई का एहसास है,
वो दूर थे तो मेरे बहुत करीब थे,
क्यूँ दूरियाँ महसूस हुईं आज जब वो मेरे पास है।

तन्हाई का एहसास है शायरी

-Advertisement-

बस एक माँ...

बस एक माँ की मोहब्ब्बत दिखाई देती है,
जमीं पे एक ही औरत दिखाई देती है,
ऐ बूढ़ी माँ तेरे चेहरे की झुर्रियों की कसम,
हर एक लकीर में जन्नत दिखाई देती है।

हमसे जुड़ें
फेसबुक पेज
पेज शेयर करें
 
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi