Search Results for - शिवांगी सक्सेना

हर दर्द का हिसाब...

अगर मैं लिखूं तो पूरी किताब लिख दूँ,
तेरे दिए हर दर्द का हिसाब लिख दूँ,
डरती हूँ कहीं तू बदनाम ना हो जाए,
वरना तेरे हर दर्द की कहानी मेरा हर ख्वाब लिख दूँ।

~ शिवी


Mere Dard Ki Kahani...

Agar Main Likhun Toh Poori Kitaab Likh Dun,
Tere Diye Har Dard Ka Hisaab Likh Dun,
Darte Hain Kahin Tu BadNaam Na Ho Jaye,
Varna Tere Har Dard Ki Kahani...
Mera Har Khwab Likh Dun.

तेरी मौजूदगी का अहसास...

तू हमसफ़र तू हमडगर तू हमराज नजर आता है,
मेरी अधूरी सी जिंदगी का ख्वाब नजर आता है,
कैसी उदास है जिंदगी... बिन तेरे... हर लम्हा,
मेरे हर लम्हे में तेरी मौजूदगी का अहसास नजर आता है।

दोस्ती से बड़ा रिश्ता नहीं...

प्यार का रिश्ता इतना गहरा नहीं होता,
दोस्ती के रिश्ते से बड़ा कोई रिश्ता नहीं होता,
कहा था इस दोस्ती को प्यार में न बदलो,
क्यूंकि प्यार में धोखे के सिवा कुछ नहीं होता।


Dosti Se Bada Rishta...

Pyar Ka Rishta Itna Gehra Nahi Hota,
Dosti Ke Rishte Se Bada Koi Rishta Nahi Hota,
Kaha Tha Iss Dosti Ko Pyar Mein Na Badlo,
KyunKi Pyar Mein Dhokhe Ke Siwa Kuchh Nahi Hota.

हमसे जुड़ें
फेसबुक पेज
पेज शेयर करें
 
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi