होम / शायर : ममनून निजामुद्दीन

ममनून निजामुद्दीन की शायरी

दो लाइन शायरी

ये न जाने थे...

ये न जाने थे कि उस महफ़िल में दिल रह जाएगा,
हम ये समझे थे कि चले आएँगे दम भर देख कर।

~ ममनून निजामुद्दीन
Admin द्वारा दिनाँक 23.09.15 को प्रस्तुत | कमेंट करें
पेज शेयर करें
   
© 2015-2018 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi