सैड शायरी

अपने प्रेमी को अपने उदास दिल की स्थिति बताने के लिए दुख भरी शायरी (Sad Shayari in Hindi) से अच्छा माध्यम कोई नहीं है। प्यार में दिल टूट जाने पर एक सैड शायरी (Sad Shayari) के द्वारा आप अपनी भावनाएं व्यक्त कर सकते हैं। इस पेज पर मैं आपके साथ सर्वश्रेष्ठ सैड शायरी (Best Emotional Sad Shayari) का एक बड़ा संग्रह साझा करने जा रहा हूँ। मेरा दावा है ये आपको अवश्य पसंद आएगा।

इस संग्रह में हर तरह की सैड शायरी हिंदी और अंग्रेजी (Sad Shayari in Hindi & English) भाषाओं में उपलब्ध है। अपनी हृदय की स्थिति के अनुसार शायरी चुनकर आप अपने प्रेमी और दोस्तों को भेज सकते हैं। व्हाट्सएप्प, फेसबुक और इंस्टाग्राम पर साझा करने के लिए सैड स्टेटस (Sad Status Image) चित्र के साथ भी यहाँ उपलब्ध हैं।

वो लम्हे जहर से

मैं घर का रास्ता भूला, जो निकला आपके शहर से,
इमारत दिल की ढह गई, आपके हुस्न के कहर से,
खुदा माना, आप न माने, वो लम्हे गए यूँ ठहर से,
वो लम्हे याद करता हूँ तो लगते हैं अब जहर से।
~ किशन कुमार झा

-Advertisement-

कमी मेरी वफ़ा में थी

मेरी यादों से अगर बच निकलो,
तो ये वादा है मेरा तुमसे,
मैं खुद दुनिया से कह दूंगा,
कमी मेरी वफ़ा में थी।

Meri Yaadon Se Agar Bach Niklo,
To Yeh Vaada Hai Mera Tumse,
Main Khud Duniya Se Keh Doonga,
Kami Meri Wafa Mein Thi.

मैं तुझको भूल जाने के
मुसलसल मरहले में हूँ,
मगर रफ्तार मद्धम है,
मुझे महसूस होता है।

Main Tujhko Bhool Jane Ke
Musalsal Marhale Mein Hun,
Magar Raftaar Maddham Hai
Mujhe Mehsoos Hota Hai.

कमी मेरी वफ़ा में थी Shayari
-Advertisement-

मगर प्यार रहने दो

कि तुम रुठ गए तो दिक्कत हो जाएगी,
अगर मैंने मनाया तो मोहब्बत हो जायेगी,
कुछ फासले यूँ ही बरक़रार रहने दो,
तुम जो मर्जी कर लो मगर प्यार रहने दो।

-Advertisement-

Shaakh Se Har Baar Toote

शाख से हर बार टूटे मगर उसूलों से जिंदगी जी है,
कांटे ही चुभे हर दफ़ा जब भी गुलों की आरज़ू की हैं,
अफ़सोस है मुझे अब भी उसी अब्र का,
जो छाया तो घटाओं सा पर बरसा अभी तक नहीं है।

-Advertisement-

Zamane Ki Yeh Gardishein

ज़माने की ये गर्दिशें परेशां करती हैं,
कोई ले चले जहाँ नफस का फ़साना न हो।

Zamane Ki Yeh Gardishein Pareshaan Karti Hain,
Koi Le Chale Jahan Nafas Ka Fasaana Na Ho.

Zamane Ki Yeh Gardishein Shayari

Wo Ajab Shakhs Tha

वो अजब शख्स था ऐ ज़िन्दगी
जिसे मैं न समझ सका,
मुझे चाहता भी गज़ब का था
मुझे छोड़ कर भी चला गया।

Wo Ajab Shakhs Tha Ai Zindagi,
Jise Main Na Samajh Saka,
Mujhe Chahta Bhi Gazab Ka Tha,
Mujhe Chhod Kar Bhi Chala Gaya.

Ek Baar Pukarenge Tumhein

तुम सुनो या न सुनो, हाथ बढ़ाओ न बढ़ाओ,
डूबते-डूबते एक बार पुकारेंगे तुम्हें।
Tum Suno Na Suno, Haath Barhaao Na Barhaao,
Doobte-Doobte Ek Baar Pukarenge Tumhein.

मेरे होने में किसी तौर से शामिल हो जाओ,
तुम मसीहा नहीं होते हो तो क़ातिल हो जाओ।
Mere Hone Mein Kisi Taur Se Shamil Ho Jaao,
Tum Maseeha Nahi Hote Ho To Qatil Ho Jaao.

ज़मीं छूटी तो भटक जाओगे ख़लाओं में,
तुम उड़ते उड़ते कहीं आसमाँ न छू लेना।
Zamin Chhooti To Bhatak Jaaoge Khalaaon Mein,
Tum Udte-Udte Kahin Aasmaan Na Chhoo Lena.

बड़ी घुटन है, चराग़ों का क्या ख़याल करूँ,
अब इस तरफ कोई मौजे-हवा निकल आये।
Badi Ghutan Hai Chiraagon Ka Kya Khyal Karoon,
Ab Is Taraf Koi Mauz-e-Hawa Nikal Aaye.

Mera Jee Nahi Lagta

नज़र नवाज़ नजारों में जी नहीं लगता,
फ़िज़ा गई तो बहारों में जी नहीं लगता,
न पूछ मुझसे तेरे ग़म में क्या गुजरती है,
यही कहूंगा हजारों में जी नहीं लगता।