होम / कैटेगरी : अश्क़ शायरी

हिंदी में अश्क़ शायरी

मेरे अश्क न छीन...

आसरा इक उम्मीद का देके मुझसे मेरे अश्क न छीन,
बस यही एक ले दे के बचा है मुझ में मेरा अपना।

मेरे अश्क न छीन शायरी

-Advertisement-

आँसू से तुम धो लेना...

रेत भरी है आँखों में आँसू से तुम धो लेना,
कोई सूखा पेड़ मिले तो उससे लिपटकर रो लेना।

कोई रेत की प्यास बुझाओ जन्म-जन्म की प्यासी है,
साहिल के ढलने के पहले अपने पाँव भिगो लेना।

मैंने दरिया से सीखी है पानी की पर्दादारी,
ऊपर-ऊपर हँसते रहना गहराई में रो लेना।

-Advertisement-

आग मोहब्बत की...

और भी ज्यादा भड़काते हो
तुम तो आग मोहब्बत की,
सोजिश-ए-दिल को ऐ अश्को,
क्या ख़ाक बुझाना सीखे हो।

आंसुओं का मंज़र...

मंज़र अभी आंसुओं का चल रहा है,
लफ्ज़ खामोश ही रहे तो अच्छा होगा।

-Advertisement-

आँखें भीग जाती हैं...

समंदर में उतरता हूँ तो आँखें भीग जाती हैं,
तेरी आँखों को पढ़ता हूँ तो आँखें भीग जाती हैं,
तुम्हारा नाम लिखने की इजाज़त छिन गई जबसे,
कोई भी लफ्ज़ लिखता हूँ तो आँखें भीग जाती हैं।

आँखें भीग जाती हैं शायरी

हमसे जुड़ें
फेसबुक पेज
पेज शेयर करें
 
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi