होम / ख्याल शायरी / ​खयालों में ​उसके

​खयालों में ​उसके...


( एडमिन द्वारा दिनाँक 30.07.16 को प्रस्तुत )
Advertisement

​खयालों में ​उसके मैंने बिता दी ज़िंदगी सारी,
​​इबादत कर नहीं पाया खुदा नाराज़ मत होना​।




Advertisement

आप इन्हें भी पसंद करेंगे

Advertisement
Ads from AdNow
loading...

« पिछला पोस्ट अगला पोस्ट »