होम / अरमान शायरी / अरमान मिलने के

अरमान मिलने के...


( एडमिन द्वारा दिनाँक 01.12.16 को प्रस्तुत )
Advertisement

यूँ ही भटकते रहते हैं अरमान तुझसे मिलने के,
न ये दिल ठहरता है न तेरा इंतज़ार रुकता है।

अरमान मिलने के



Advertisement

आप इन्हें भी पसंद करेंगे

Advertisement
Ads from AdNow
loading...

अगला पोस्ट »