होम / सैड शायरी / घर तक जला दिया

घर तक जला दिया

( अब्दुल खान द्वारा दिनाँक 25-01-2018 को प्रस्तुत )
-Advertisement-

मुद्दत से थी किसी से मिलने की आरज़ू,
ख्वाहिश-ए-दीदार में सबकुछ लुटा दिया,
किसी ने दी खबर कि आएंगे वो रात को,
इतना किया उजाला कि घर तक जला दिया।

-Advertisement-

आप इन्हें भी पसंद करेंगे

-Advertisement-
पेज शेयर करें
   
© 2015-2018 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi