होम / ख़ुशी शायरी / खुशियाँ तमाम देना

खुशियाँ तमाम देना...


( एडमिन द्वारा दिनाँक 10.10.15 को प्रस्तुत )
Advertisement

जीने की उसने हमे नई अदा दी है,
खुश रहने की उसने दुआ दी है,
ऐ खुदा उसको खुशियाँ तमाम देना,
जिसने अपने दिल मे हमें जगह दी है।




Advertisement

आप इन्हें भी पसंद करेंगे

Advertisement
Ads from AdNow
loading...

« पिछला पोस्ट अगला पोस्ट »