होम / कैटेगरी : जिंदगी शायरी

हिंदी में जिंदगी शायरी

कभी धूप दे...

कभी धूप दे... कभी बदलियाँ,
दिलो जान से दोनों क़बूल हैं,
मगर उस नगर में न कैद कर,
जहाँ जिंदगी की हवा न हो।

कभी धूप दे शायरी
एडमिन द्वारा दिनाँक 23.04.17 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-

कोई जी लेता है...

एक साँस सबके हिस्से से हर पल घट जाती है,
कोई जी लेता है जिंदगी किसी की कट जाती है।

अजय आजाद द्वारा दिनाँक 19.01.17 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-

जब ठेस लगती है...

लोग डूबते हैं तो समंदर को दोष देते हैं,
मंजिल न मिले तो मुकद्दर को दोष देते हैं,
खुद तो संभल कर चल नहीं सकते,
जब ठेस लगती है तो पत्थर को दोष देते हैं।

दीपक विश्वकर्मा द्वारा दिनाँक 15.12.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें

शुक्रिया ऐ ज़िन्दगी...

शुक्रिया ज़िन्दगी...जीने का हुनर सिखा दिया,
कैसे बदलते हैं लोग चंद कागज़ के टुकड़ो ने बता दिया,
अपने परायों की पहचान को आसान बना दिया,
शुक्रिया ऐ ज़िन्दगी जीने का हुनर सिखा दिया।

शुक्रिया ऐ ज़िन्दगी शायरी
गौरव सरकार द्वारा दिनाँक 08.12.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
-Advertisement-

जिंदगी के पन्नों को...

बारिश में रख दूँ जिंदगी को
ताकि धुल जाए पन्नो की स्याही,
ज़िन्दगी फिर से लिखने का
मन करता है कभी-कभी।

जिंदगी के पन्नों को शायरी
एडमिन द्वारा दिनाँक 03.12.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें

पेज शेयर करें
   
© 2015-2018 हिंदी-शायरी.इन | डिसक्लेमर | संपर्क करें | साईटमैप
Best Shayari in hindi | Love Sad Funny Shayari and Status in Hindi