होम / कैटेगरी : इश्क़ शायरी

Ishq Shayari in Hindi

मेरे हवास इश्क़ में...


मेरे हवास इश्क़ में क्या कम हैं मुंतशिर,
मजनूँ का नाम हो गया क़िस्मत की बात है।



एडमिन द्वारा दिनाँक 24.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

गर हो जाए इश्क...


गर हो जाए इश्क...
तो हमसे साझा कर लेना।
कुछ हम रख लेंगे
कुछ तुम रख लेना।



प्रियादीप द्वारा दिनाँक 03.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

इश्क़ गुनाह है...


अगर इश्क़ गुनाह है तो गुनाहगार है खुदा,
जिसने बनाया दिल किसी पर आने के लिए।


इश्क़ गुनाह है शायरी

एडमिन द्वारा दिनाँक 21.10.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें

इश्क़ ही ख़ुदा...


जो मिला मुसाफ़िर वो रास्ते बदल डाले,
दो क़दम पे थी मंज़िल फ़ासले बदल डाले।

आसमाँ को छूने की कूवतें जो रखता था,
आज है वो बिखरा सा हौंसले बदल डाले।

शान से मैं चलता था कोई शाह कि तरह,
आ गया हूँ दर दर पे क़ाफ़िले बदल डाले।

फूल बनके वो हमको दे गया चुभन इतनी,
काँटों से है दोस्ती अब आसरे बदल डाले।

इश्क़ ही ख़ुदा है सुन के थी आरज़ू आई,
ख़ूब तुम ख़ुदा निकले वाक़िये बदल डाले।



एडमिन द्वारा दिनाँक 21.10.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

इश्क है वही जो...


इश्क है वही जो हो एक तरफा,
इजहार-ए-इश्क तो ख्वाहिश बन जाती है,
है अगर इश्क तो आँखों में दिखाओ,
जुबां खोलने से ये नुमाइश बन जाती है।



एडमिन द्वारा दिनाँक 21.10.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Ads from AdNow
loading...