होम / कैटेगरी : बेवफा शायरी

Bewafa Shayari in Hindi

बेवफ़ा पहले से था...


उसके तर्क-ए-मोहब्बत का सबब होगा कोई,
जी नहीं मानता कि वो बेवफ़ा पहले से था।


बेवफ़ा पहले से था शायरी

एडमिन द्वारा दिनाँक 08.12.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

मेरे नाम से बदनाम...


मुझे तू अपना बना या न बना तेरी खुशी,
तू ज़माने में मेरे नाम से बदनाम तो है।



एडमिन द्वारा दिनाँक 04.12.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

जाने क्यों बेवफा...


हर रात उसको इस तरह से भुलाता हूँ,
दर्द को सीने में दबा के सो जाता हूँ।

सर्द हवाएँ जब भी चलती हैं रात में,
हाथ सेंकने को अपना ही घर जलाता हूँ।

कसम दी थी उसने कभी न रोने की मुझे,
यही वजह है कि आज भी मुस्कुराता हूँ।

हर काम किया मैंने उसकी खुशी के लिए,
तब भी जाने क्यों बेवफा कहलाता हूँ।



नरेश पुरोहित द्वारा दिनाँक 02.12.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें

नाम बेवफा मत देना...


मुझे इश्क है बस तुमसे नाम बेवफा मत देना,
गैर जान कर मुझे इल्जाम बेवजह मत देना,
जो दिया है तुमने वो दर्द हम सह लेंगे मगर,
किसी और को अपने प्यार की सजा मत देना।


नाम बेवफा मत देना शायरी

कौशल किशोर प्रजापति द्वारा दिनाँक 30.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

यूँ ही बेवफ़ा...


वो जमाने में यूँ ही बेवफ़ा मशहूर हो गये दोस्त,
हजारों चाहने वाले थे किस-किस से वफ़ा करते।



एडमिन द्वारा दिनाँक 26.11.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Ads from AdNow
loading...