Read Shayari in Hindi

Advertisement

आप का गीत...


गीत आप का होगा,
गजल हम बनायेगे,
रास्ते आप चुनेंगे,
मंजिल हम बनायेगे
हाथ आप देंगे
साथ हम निभाएंगे.



शनी द्वारा दिनाँक 15.05.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें

इश्क के रास्ते में...


इश्क के रास्ते में मुमसिक तो बहुत मिले,
मिला दे महबूब से ना आज तक कोई ऐसा मिला.



अमित गौतम मितवा द्वारा दिनाँक 11.05.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

गरीबी में रिश्ता...


हजारों दोस्त बन जाते है जब धन पास होता है,
टूट जाता है गरीबी में जो रिश्ता ख़ास होता है.



मंगेश मिश्रा द्वारा दिनाँक 10.05.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें

हिचकियों में फर्क...


ऐ खुदा... हिचकियों में कुछ तो फर्क डाला होता...
अब कैसे पता करूँ कि कौनसी वाली याद कर रही है.



मनोज द्वारा दिनाँक 09.05.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें
Advertisement

मेरे जख्म...


जिस के आने से मेरे जख्म भरा करते थे,
अब वो मौसम मेरे जख्मों को हरा करता हैं।



एडमिन द्वारा दिनाँक 08.05.16 को प्रस्तुत | कमेंट करें

अगला पेज »